नए ब्लॉग को Google Search Console में कैसे add करे

नए ब्लॉग को Google Search Console में कैसे add करे

blog ko google search console me kaise add kare

आज हम बात करेंगे Search Console के बारे में और जानेंगे कि नए blog ko google search console me kaise add kare और इसके साथ-साथ यह भी जानेगे कि Search console में Sitemap कैसे create करे। ब्लॉग create करने के बाद ब्लॉग को search console में submit करना एक महत्वपूर्ण step होता है जिसकी मदद से आप अपने ब्लॉग को गूगल search engine में list कर पाते है।
ऐसा करने से न केवल अपने ब्लॉग को लिस्ट करते है बल्कि गूगल को आपके ब्लॉग का सारा डाटा crawl भी कर सकता है और आप जो कुछ भी अपने ब्लॉग पर publish करते है वो गूगल के search इंजन में आ जाता है फिर कोई भी reader गूगल के माध्यम से आपके ब्लॉग तक पहुँच सकता है।
अब आप समझ गए होंगे कि google search console में ब्लॉग को सबमिट करना क्यों जरुरी है। इसके अलावा भी कुछ process है जो की आप आगे कि पैराग्राफ में पढ़ेंगे। तो आइये शुरू करते है।

ब्लॉग को Google Search Console में कैसे add करे

Google search console के official website पर जाये
यहाँ पर click करे Google search console

Step #1
blog ko google search console me kaise add kare


Step #2
यहाँ पर अपना Gmail account को login करे

blog ko google search console me kaise add kare

Step #3
यहाँ पर आप अपना Blog का url type करे और फिर continue बटन पर क्लिक करे !

उदाहरण के लिए मैं यह Blog का url टाइप कर रहा हूँ https://beautytipsshindi.blogspot.com

blog ko google search console me kaise add kare


Step #4
Go To Property में क्लिक करे

blog ko google search console me kaise add kare


Step #5
Google search console के dashboard में जाये और निचे के menu में sitemap पर क्लिक करे फिर उसके बाद add a new sitemap में sitemap.xml टाइप करे और फिर submit बटन पर क्लिक करे

Note : आपके Blog में post मौजूद होने चाहिए तभी आपके sitemap स्वीकार किये जायेंगे

blog ko google search console me kaise add kare



Sitemap क्या है?

Sitemap क्या है तो अगर आसान भाषा में कहे तो sitemap एक file है जिसमें वेब पेजों की list होती है और आपकी website के सभी वेब पेजों की पूरी जानकारी होती है। जहाँ आप post, videos और अन्य files को search engine में submit करते है ताकि आपकी files Google search engine में index हो सके, आप search engine को यह बताते है की website या blog में कौन कौन सी file है और उनके बीच सम्बन्धो के बारे में जानकारी देते है और google search engine इस file को आपकी website पर crawl करते है और पढ़ते है आपकी website में क्या है और फिर इन्हे google search रिजल्ट में दिखाती है |

Basically, एक साइटमैप दो प्रकार का है (1 ) HTML साइटमैप और (2 ) XML साइटमैप और इन दोनों का अपना महत्व है।
HTML साइटमैप वेबसाइट User के लिए बनाया गया है ताकि User उन सभी वेब पेजों तक आसानी से पहुंच सके |

वहीं अगर बात करे XML साइटमैप की तो यह वेब क्रॉलर के लिए XML साइटमैप सभी वेब पेजों को आसानी से क्रॉल करने के लिए बनाया गया है और अपने साइटमैप को XML format में रखना महत्वपूर्ण है क्योंकि क्रॉलर (web spider ) HTML या txt जैसे किसी अन्य format में साइटमैप को Read नहीं कर सकते है।

एक sitemap crawler को बताता है की आपकी कौन सी files आपकी website में महत्वपूर्ण है | आप Video, Image, और अपनी website की pages की जानकारी देने के लिए साइटमैप का उपयोग कर सकते हैं। यदि आपके मन में यह भी सवाल आ रहा है की अपनी website को google, yahoo, bing webmaster में sitemap submit नहीं किया तो क्या होगा तो आपको बता दे की sitemap सबमिट करना क्यों महत्वपूर्ण है?
▪ SEO Friendly Blog Post Kaise Likhe & Rank On Google First Page

Sitemap सबमिट करना क्यों महत्वपूर्ण है?

खोज इंजन वेब पर डेटा को sort करने और list करने के लिए crawler का उपयोग करते हैं। जब आप अपने Post में किसी प्रकार का content add करते है या फिर इसे दोबारा update करते है तो crawler आपकी website को crawl करता है और इसे सर्च इंजन में अपडेट कर लेता है |

एक साइटमैप उन सभी वेब पेजों के सभी URL के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका रखती है, जिसमें आपकी वेबसाइट में search engine होते हैं, ताकि Crawler आसानी से सभी वेब पेजों को crawl कर सके और इसे Index कर सके यदि उन्हें आपकी content उचित और उपयोगी लगती है | हालाँकि search engine इस बात का guarantee नहीं करता है, की xml sitemap सबमिट करने से यह index हो जाये | आपको यह ध्यान रखना होगा आपकी वेबसाइट की पूरी pages गूगल के search engine में Index है या नहीं यह आपको चेक करते रहना होगा |

आप अपना XML साइटमैप manually बना सकते हैं या बहुत सारे Online tools उपलब्ध हैं जो आपकी वेबसाइट के लिए साइटमैप बनाने में आपकी सहायता करते हैं और यह आपकी वेबसाइट के root directory में मौजूद होना चाहिए ।
▪ How to Start Blogging in Hindi & Make Money Online

XML sitemap के benefits क्या है?

  • एक XML साइटमैप Google को आपकी साइट को crawl और list करने की सलाह देता है।
  • एक XML साइटमैप Google को बताता है कि आपकी साइट पर क्या crawl करना है।
  • एक XML साइटमैप Google को बताता है कि आपकी साइट पर किस प्रकार का data है।
  • एक XML साइटमैप Google को तब Update करता है जब आप post में कोई नया बदलाव या content add करते है (जिसके परिणामस्वरूप अधिक अच्छी या "नई" रैंकिंग हो सकती है)।
  • एक XML साइटमैप आपकी website की traffic को increase करता है
  • एक XML साइटमैप Google को बताता है कि आपकी content कितनी बार Refresh की जाती है।
  • एक XML साइटमैप Google को बताता है कि आपकी content कितनी आवश्यक है।
  • एक XML साइटमैप आपकी साइट को powerful बनाए गए pages के लिए तुरंत indexation प्राप्त करने में मदद करता है।
  • एक XML साइटमैप Google को अधिक powerful तरीके से आपकी साइट को धीमा करने में सक्षम बनाता है। जब यह ऐसा होता है, तो आपकी साइट की अपनी रैंक को तेजी से बढ़ाने की अधिक संभावना है।

Question Answer

Q. Sitemap सबमिट के बाद यह update होने में कितना समय लेता है ?

Ans. sitemap अपडेट होने में लगभग 48 घंटे लग सकते है !

Q. क्या मैं google search console अकाउंट में एक से अधिक site Add कर सकता हूँ ?

Ans. जी हाँ , आप Add property में जा कर अपने अन्य Blog को एक ही अकाउंट में जोड़ सकते है ! और उनके लिए एक नया sitemap बना सकते है

Q. Blog post publish करने के बाद क्या Post Google search console में खुद ब खुद update हो जाती है ?

Ans. नहीं, यह आपको स्वंय ही करना होता है Post publish करने के बाद post के url को copy करे और इन्हे search console के dashboard में URL inspection मेन्यू बटन पर क्लिक करे और copy किया गया url को search bar में paste करे और enter button press करे और फिर Request Indexing बटन पर क्लिक करे !

Was this article helpful ? "If Yes Don't forget to Like & Share.

Leave a Comment

Comments 0